आपदा के समय बच्चों की सुरक्षा अध्यापकों की जिम्मेदारी

Sep 23, 2022 Off By Frost

जागरणसंवाददाता,ऊना:जिलाशिक्षाएवंप्रशिक्षणसंस्थानदेहलांमेंआपदाप्रबंधनपरचारदिवसीयकार्यशालाशुरूहुई।एसडीएमहरोलीगौरवचौधरीमुख्यअतिथिरहे।विकासखंडऊना,हरोलीऔरबंगाणाके60शिक्षकोंनेआगऔरभूकंपसहितविभिन्नप्रकारकीआपदाओंसेनिपटनेकेगुरसीखे।एसडीएमनेकहाकिसीभीतरहकीआपदाकेआनेकाकोईस्थानवसमयनिर्धारितनहींहोतालेकिनसमय-समयपरआपदाकोलेकरपूर्वतैयारीऔरपूर्वाभ्याससेजान-मालकेनुकसानकोअवश्यकमकियाजासकताहै।उन्होंनेअध्यापकोंसेअपने-अपनेक्षेत्रमेंकिसप्रकारकीआपदाएंआसकतीहैं,उसबारेमेंजागरूकरहनेकाआह्वानकिया।कहाप्राथमिकपाठशालाओंमेंशिक्षाग्रहणकररहेविद्यार्थीकाफीछोटेहोतेहैंऔरउनकीसुरक्षाकेमद्देनजरशिक्षकोंकोविभिन्नप्रकारकीआपदाओंऔरउनसेनिपटनेएवंआपदाओंकेजोखिमकोकमकरनेकेउपायोंकेबारेमेंजागरूकरहनाअतिआवश्यकहै।इसमौकेपरसमर्थअभियानकेअंतर्गतसंस्थानकेविद्यार्थियोंकीआपदाप्रबंधनपरआधारितचित्रकलाएवंनारालेखनप्रतियोगिताभीकरवाईगई।इसमेंप्रियंकानेपहला,सुनीलनेदूसरास्थानहासिलकिया।कार्यशालामेंप्रधानाचार्यएवंजिलापरियोजनाअधिकारी,जिलाशिक्षाएवंप्रशिक्षणसंस्थानकमलदीप¨सहसहितसंस्थानकेअध्यापकमौजूदरहे।