अर्थव्यवस्था के मोर्चे मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर, औद्योगिक उत्पादन में वृद्धि, महंगाई दर घटी

Sep 03, 2022 Off By Fry

प्रतीकात्मकफोटो

अर्थव्यवस्थाकेमोर्चेपरअच्छीखबररही.एकतरफजहांऔद्योगिकउत्पादनमेंवृद्धिदरजनवरीमेंबढ़कर7.5प्रतिशतपहुंचगयी,वहींमहंगाईदरफरवरीमेंकमहोकर4.4प्रतिशतपरआगई.इससेउद्योगनेवृद्धिकीगतिबनायेरखनेकेलियेअगलेमहीनेपेशहोनेवालीमौद्रिकनीतिसमीक्षामेंनीतिगतदरमेंकटौतीकीमांगकीहै.रिजर्वबैंकअगलीमौद्रिकनीतिसमीक्षापांचअप्रैल2018कोकरेगा.शीर्षबैंकनेमहंगाईदरमेंवृद्धिकीआशंकामेंनीतिगतदरमेंकोईबदलावनहींकिया.

केंद्रीयसांख्यिकीसंगठन(सीएसओ)केआंकड़ेकेअनुसारखाने-पीनेकीचीजेंतथाईंधनकीलागतमेंकमीसेखुदरामुद्रास्फीतिफरवरीमेंघटकरचारमहीनेकेन्यूनतमस्तर4.44प्रतिशतपरपहुंचगयी.उपभोक्तामूल्यसूचकांकआधारितखुदरामुद्रास्फीतिजनवरीमें5.07प्रतिशतथी.हालांकिपिछलेसालफरवरीमेंयह3.65प्रतिशतथी.

खुदरामहंगाईदरमेंकमीकोदेखतेहुएउद्योगमंडलसीआईआईनेकहा,‘‘इससेरिजर्वबैंककोनीतिगतदरोंमेंकटौतीकाचक्रशुरूकरनेकेलिएप्ररितहोनाचाहिएताकिअर्थव्यवस्थामेंजोपुनरूद्धारदिखाईदेरहाहै,उसेगतिदीजासके.’’आंकड़ेकेअनुसार,उपभोक्ताखाद्यखंडमेंमहंगाईदरफरवरीमेंकमहोकर3.26प्रतिशतरहीजोइससेपिछलेमहीनेमें4.7प्रतिशतथी.

सब्जियोंमेंमुद्रास्फीतिपिछलेमहीनेकमहोकर17.57प्रतिशतरहीजोजनवरीमें26.97प्रतिशतथी.वहींफलोंकीमहंगाईदरआलोच्यमहीनेमें4.80प्रतिशतरहीजोइससेपूर्वमहीनेमें6.24प्रतिशतथी.

औद्योगिकउत्पादनकीबातकीजाएतोइसकीवृद्धिदरइससालजनवरीमें7.5प्रतिशतरहीजोएकसालपहलेइसीमहीनेमें3.5प्रतिशतथी.इसकाकारणविनिर्माणक्षेत्रकेबेहतरप्रदर्शनकेसाथउपभोक्ताऔरपूंजीगतवस्तुओंकीअच्छीमांगहैजिससेऔद्योगिकवृद्धिकोगतिमिली.

केंद्रीयसांख्यिकीकार्यालय(सीएसओ)केआंकड़ेकेअनुसार,औद्योगिकउत्पादनसूचकांक(आईआईपी)मेंवृद्धिदिसंबर2017में7.1प्रतिशतरहीथी. क्रिसिलनेकहा,‘‘लगातारदूसरेमहीनेविनिर्माणक्षेत्रमेंवृद्धिइसबातकासंकेतहैकिउद्योगजीएसटीसंबंधितबाधाओंसेबाहरआगयाहैतथाजोघरेलूएवंवैश्विकवृद्धिदेखीजारहीहै,उससेधीरे-धीरेपटरीपरआसकताहै.’’

इससालजनवरीमेंआईआईपीवृद्धिकाप्रमुखकारणविनिर्माणक्षेत्रकाबेहतरप्रदर्शनहै.सूचकांकमेंइसक्षेत्रकीहिस्सेदारी77.63प्रतिशतहै.इसमेंआलोच्यमाहमें8.7प्रतिशतकीवृद्धिहुईजोजनवरी2017में2.5प्रतिशतथी.यहअर्थव्यवस्थामेंपुनरूद्धारकासंकेतदेताहै.

निवेशकाआईनामानेजानेवालेपूंजीगतसामानकेउत्पादनमेंजनवरी2018में14.6प्रतिशतकीवृद्धिहुईजबकिएकसालपहलेइसीमहीनेमें0.6प्रतिशतकीगिरावटदर्जकीगयीथी.

गैर-टिकाऊउपभोक्तासामानखंडमेंवृद्धिदरआलोच्यमहीनेमें10.5प्रतिशतरहीजोएकसालपहलेजनवरीमहीनेमें9.6प्रतिशतथी.इसखंडमेंरोजमर्राकेउपयोगकेसामानशामिलहैं.वहींउपभोक्ताटिकाऊवस्तुओंकीवृद्धिदरजनवरी2018में8प्रतिशतरहीजबकिएकसालपहलेइसीमहीनेमेंइसमें2प्रतिशतकीगिरावटदर्जकीगयीथी.

हालांकिखननक्षेत्रमेंनरमीदिखीऔरआलोच्यमहीनेमें0.1प्रतिशतकीवृद्धिहुईजबकिएकसालपहलेजनवरीमहीनेमेंइसमें8.6प्रतिशतकीबढ़ोतरीहुईथी.वस्तुओंकेउपयोगकेआधारपरदेखाजाएतोप्राथमिकवस्तुओंकीवृद्धिदरसालानाआधारपरजनवरी2018में5.8प्रतिशतरही.वहींमध्यमिकवस्तुएंबनानेवालेउद्योगोंकीवृद्धिदरआलोच्यमहीनेमें4.9प्रतिशततथाबुनियादीढांचा:निर्माणक्षेत्रमेंकामआनेवालीवस्तुएंबनानेवालेउद्योगोंकीवृद्धिदर6.8प्रतिशतरही.

उद्योगोंकेसंदर्भमेंविनिर्माणक्षेत्रमेंइससालजनवरीमें23औद्योगिकसमूहमें16मेंसकारात्मकवृद्धिहुई.

चालूवित्तवर्षमेंअप्रैल-जनवरीकेदौरानआईआईपीकीवृद्धिदर4.1प्रतिशतरहीजोइससेपूर्ववित्तवर्षकीइसीअवधिमें5प्रतिशतथी.