केंद्रीय सशस्त्र बलों की कैंटीन में अब बिकेंगे केवल स्थानीय रूप से बने उत्पाद

Aug 08, 2022 Off By Giles

नयीदिल्ली,18मई(भाषा)सरकारनेकेंद्रीयसशस्त्रपुलिसबलोंकीसभीकैंटीनऔरदुकानोंमेंस्थानीयरूपसेविनिर्मितउत्पादोंकीबिक्रीकोअनिवार्यकरदियाहै।येउत्पादउन्हेंखादीएवंग्रामोद्योगआयोग(केवीआईसी)केजरियेहीखरीदनीहोगी।केवीआईसीनेकहा,‘‘इसकदमसेकिसानों,बेरोजगारयुवाओंऔरकुटीरएवंग्रामीणउद्योगोंसेजुड़ेलाखोंलोगोंकोलाभहोगा।’’गृहमंत्रालयनेइसबारेमेंआदेश15मई2020कोजारीकिया।यहएकजून2020सेप्रभावमेंआएगा।आयोगनेकहाकिअबकेवलभारतीयउत्पादोंकीबिक्रीकेंद्रीयसशस्त्रपुलिसबलोंकीकैंटीनकेजरियेकीजाएगी।इनउत्पादोंकीखरीदकेवीआईसीकेजरियेहोगी।इसनिर्णयसेकेवीआईसीकेउत्पादनऔरबिक्रीपरभीसकारात्मकप्रभावपड़ेगा।आदेशमेंकहागयाहै,‘‘खादीएवंग्रामोद्योगआयोग17उत्पादोंकेसाथकेंद्रीयपुलिसकल्याणभंडार(केपीकेबी)केसाथपंजीकृतहै...अबगृहमंत्रालयनेयहनिर्णयकियाहैकिएकजून2020सेकेवलस्वदेशीउत्पादोंकीबिक्रीकेपीकेबीकेजरियेहोगी।इसकोदेखतेहुएसभीमास्टरभंडारअपनेआर्डरसीधेकेवीआईसीकोदेसकतेहैं।’’इनसशस्त्रबलोंकेदेशमें20मास्टरभंडरहैं।इनकासालानाकारोबार1,800करोड़रुपयेसेअधिककाहै।